Astro & Spritual

ग्रहों से आयु (उम्र) गणना कैसे करें ! : Yogesh Mishra

महर्षि पाराशर ने प्रत्येक ग्रह को निश्चित आयु पिंड दिये है,सूर्य को 18 चन्द्रमा को 25 मंगल को 15 बुध को 12 गुरु को 15 शुक्र को 21 शनि को 20 पिंड दिये गये है उन्होने राहु केतु को स्थान नही दिया है। जन्म कुंडली मे जो ग्रह उच्च व …

Read More »

कस्पल पद्धति से जाने आप नौकरी छोड़ कर कब व्यवसाय करेंगे |: Yogesh Mishra

किसी जातक विशेष के व्यवसाय इत्यादि के बारे में जानने के लिये सर्वप्रथम लग्न के सब-सब लार्ड को जानें । अगर इसका संबंध/योग/लिंकेज 6ठे भाव से, 7वें भाव से, 10वें भाव से बन रहा है तो जातक विशेष को 6ठे, 7वें और 10वें भाव के फल मिलना निश्चित है। ऐसे …

Read More »

जीवन में कुण्डली के अष्टम भाव का महत्व : Yogesh Mishra

अष्टम भाव से व्यक्ति की आयु व मृत्यु के स्वरुप का विचार किया जाता है| इस दृष्टि से अष्टम भाव का महत्व किसी भी प्रकार से कम नही है| क्योंकि यदि मनुष्य दीर्घजीवी ही नही तो वह जीवन के समस्त विषयों का आनंद कैसे उठा सकता है? अष्टम भाव त्रिक(6, …

Read More »

जानिये : महूर्त विज्ञान के महाविनाशकारी योग : Yogesh Mishra

महूर्त विज्ञान के कुयोग या दुर्योग वह योग हैं | जिनमे आरम्भ किये गए कार्यों में असफलता और निराशा हाथ लगती है | इन योगों में आरम्भ अथवा प्रतिष्ठित किये गए कार्यों का प्रतिफल हानि, संकट और कष्ट के रूप में सामने आता है | कई बार तो व्यक्ति इन …

Read More »

मारकेश की दशा आने से पहले बरतें ये सावधानी : Yogesh Mishra

फलित ज्योतिष के अनुसार किसी भी जातक के जीवन में ‘मारकेश’ ग्रह की दशा के मध्य घटने वाली घटनाओं की सर्वाधिक सटीक एवं सत्य भविष्यवाणी की जा सकती है, क्योंकि मारकेश वह ग्रह होता है जिसका प्रभाव मनुष्य के जीवन में शत-प्रतिशत घटित होता है | यह दशा जीवन में …

Read More »

मारकेश ग्रह की अंतर या प्रत्यंतर दशा में कोई जरुरी नहीं है कि सदैव व्यक्ति की मृत्यु ही हो जाये !

विश्व में कोई भी ऐसी कुंडली नहीं है जो मारकेश से मुक्त हो और मारकेश का तात्पर्य कभी भी मृत्यु हो जाना भी नहीं है | मारकेश का तात्पर्य सदैव मृत्यु तुल्य कष्ट से है | किसी व्यक्ति का इतना अपमान हो जाए कि उसके अंदर जीने की इच्छा ही …

Read More »

निर्दोष होते हुये भी कहीं आप ग्रह दोषों के कारण तो बदनाम नहीं हो रहे हैं | Yogesh Mishra

कलंक या बदनामी किसी भी इंसान के लिए सबसे बुरा वक्त कहा जा सकता है । कई बार जीवन में आप कुछ भी गलत नहीं कर रहे होते हैं फिर भी जब कालचक्र की गति विपरीत होती है तो आप उसके निशाने पर आ ही जाते हैं। आप तो किसी …

Read More »

कुंडली से सरकारी नौकरी के प्राप्ति की गणना कैसे करें : Yogesh Mishra

सरकारी नौकरी के प्राप्ति के लिये ज्योतिषीय विश्लेषण के हमारे शास्त्रों मे कई सूत्र दिये गये हैं। भाव: कुंडली के पहले, दसवें तथा ग्यारहवें भाव और उनके स्वामी से सरकारी नौकरी के बारे मैं जान सकते हैं। सूर्य. चंद्रमा व बृहस्पति सरकारी नौकरी मै उच्च पदाधिकारी बनाता है। भाव :द्वितीय, …

Read More »

सफल शिक्षक बनने के ज्योतिषीय योग कैसे जान सकते हैं | Yogesh Mishra

शिक्षक का हमारे समाज में महत्वपूर्ण स्थान होता है। किसी भी छात्र को योग्य बनाने व उसको शारीरिक व मानसिक तौर पर सक्षम बनाने में शिक्षक की अहम भूमिका होती है। जैसा कि हमारे शास्त्रों में विदित है माता-पिता के पश्चात वह गुरु ही है जो छात्र का मार्गदर्शन करके …

Read More »

सनातन ज्योतिष में शुभ महूर्त कौन कौन से होते है : Yogesh Mishra

सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग, सर्वार्थ सिद्धि योग और दैनंदिन वार और नक्षत्रों के संयोग से पड़ने वाले ज्योतिषीय योगों के अलावा भी कुछ शुभ योग होते हैं | यह योग इस प्रकार से हैं – कुमार योग – प्रतिपदा, पंचमी, षष्ठी, दशमी या एकादशी तिथि हो, सोमवार, मंगलवार, बुधवार …

Read More »