Astro & Spritual

बहुत ही उपयोगी : भविष्य जानने के सटीक सूत्र : Yogesh Mishra

भविष्य जानने के सटीक सूत्र विशोतरी दशा फलित कथन के सटीक सूत्र इस वक्तव्य में श्री योगेश कुमार मिश्र द्वारा विशोतरी दशाओं का फलित कथन सरल व सटीक रूप में कैसे किया जा सकता है । उनके सिद्धान्तों की व्याख्या “लघु सिद्धांत पाराशरी” के मुख्य सूत्रों के अनुसार की गई …

Read More »

कुंडली में लग्न को आधार पर स्थिर राज योग का निर्माण कैसे होता है ? : Yogesh Mishra

ज्योतिष में जिन व्यक्तियों की कुण्डली में राजयोग निर्मित होता है, वह लोग उच्च स्तरीय राजनेता, मंत्री, किसी राजनीतिक दल के प्रमुखिया, बड़े बड़े कंपनियों के मालिक, प्रशासनिक या संवैधानिक पदों पर आसीन होते हैं तथा कला और व्यवसाय में खूब मान-सम्मान प्राप्त करते हैं । राजयोग का आंकलन करने …

Read More »

जानिये आपकी कुण्डली में अच्छी गृह संपत्ति के योग कब है Yogesh Mishra

एक अच्छा घर बनाने की इच्छा हर व्यक्ति के जीवन की चाह होती है. व्यक्ति किसी ना किसी तरह से जोड़-तोड़ कर के घर बनाने के लिए प्रयास करता ही है. “हमारी कुंडली में चतुर्थ भाव को भूमि, जायदात, सम्पत्ति, मकान और घर के सुख का कारक माना गया है …

Read More »

जानिये : कहीं गृह संपत्ति सुख नष्ट होने का योग तो नहीं है | Yogesh Mishra

शुक्र को ऐश्वर्य और वैभव का कारक है अतः यदि कुंडली में शुक्र बहुत बलि हो तो व्यक्ति को उच्चस्तरीय गृह संपत्ति का सुख मिलता है और ऐसा व्यक्ति अच्छी संपत्ति और वैभव को प्राप्त करता है। यदि कुंडली में चतुर्थ भाव तो अच्छा हो पर शुक्र कमजोर या पीड़ित …

Read More »

सावधान हो जाइये कहीं आपकी कुण्डली में राजयोग भंग तो नहीं हो रहा है | Yogesh Mishra

राजयोग भंग होने पर हाथ आती राज सत्ता भी चली जाती है और व्यक्ति दर-दर ठोकरें खाने के लिये बाध्य हो जाता है | जैसे राजा हरिश्चन्द्र, देव राज इन्द्र, भगवान शिव, भगवान विष्णु आदि | आजकल सुब्रत सहारा, आशाराम बापू ,देवी प्रज्ञा आदि | अर्थात राजयोग भंग के ग्रहीय …

Read More »

मात्र ब्राहमण ही राष्ट्र का रक्षक और मार्गदर्शक हो सकता है | Yogesh Mishra

वैदिककाल से आज तक ब्राह्मणों ने हर दौर में अपनी योग्यता सिद्ध की है। वैदिककाल में “जमदग्नि”, “भरद्वाज”, “गौतम” आदि ऋषि तो मंत्रों के माध्यम से ज्ञान-विज्ञान की चरमसीमा तक पहुँच गए थे। उस समय कला, शिल्प, चिकित्सा, शिक्षा आदि के क्षेत्र में उन्नत तकनीकों को देने वाले ऋषिगण ब्राह्मण …

Read More »

किसी को अनावश्यक “मांगलिक” घोषित करना “महापाप” है : Yogesh Mishra

प्रायः देखा जाता है कि बच्चों के विवाह के लिए बहुत अच्छे-अच्छे संबंध आने पर हम उन्हें इसलिये छोड़ देते हैं कि हमारे सलाहकार “ज्योतिषी” या “कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर” उस कुंडली को “मांगलिक” घोषित कर देते हैं और उस संबंध को न करने की सलाह देते हैं | मैं इस …

Read More »

मंगलिक दोष के स्वतः भंग होने पर अनावश्यक करवाया गया पूजन घातक है | Yogesh Mishra

प्रायः देखा जाता है कि बच्चों के विवाह के लिए बहुत अच्छे-अच्छे संबंध आने पर हम उन्हें इसलिये छोड़ देते हैं कि हमारे सलाहकार “ज्योतिषी” या “कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर” उस कुंडली को “मांगलिक” घोषित कर देते हैं और उस संबंध को न करने की सलाह देते हैं | मैं इस …

Read More »

अनावश्यक कालसर्प योग की शान्ति का अनुष्ठान आपका सर्वनाश कर सकता है | : Yogesh Mishra

आजकल चारो तरफ कालसर्प योग की बहुत ही चर्चा है | यदि आपका समय कुछ अच्छा नहीं चल रहा है और ऎसे में यदि आप किसी ज्योतिषी से सम्पर्क करते हैं तो अधिकतर ज्योतिषी किसी न किसी तरह से आपको कालसर्प (पूर्ण या आंशिक) योग से पीडित बतलाते हैं | …

Read More »

यदि जन्म का सही समय न मालूम हो तब भी बनाई जा सकती है कुंडली : Yogesh Mishra

प्रायः लोगों की समस्या यह होती है कि उन्हें ज्योतिषीय परामर्श के लिए अपने जन्म का सही समय मालूम नहीं होता है | लेकिन इससे घबराने या परेशान होने की आवश्यकता नहीं है | कोई भी योग्य ज्योतिषी यदि आपके संपर्क में है तो मात्र कुछ जानकारी के आधार पर …

Read More »