Tantra

हिन्दुत्व को ख़त्म करने के लिये अंग्रेजों का तांत्रिक षडयंत्र : Yogesh Mishra

ब्रिटिशों के शासनकाल में अंग्रेजों ने सनातन हिन्दू धर्म को मिटाने के लिये हिन्दू धर्म के अंदर से ही लोगों को चुन कर उन्हें ट्रेंड किया और हिन्दू समाज में समाज सुधारक के रूप में स्थापित करना शुरू किया ! इसका कारण यह था कि अंग्रेज जानते थे कि भारतवर्ष …

Read More »

यहूदी तंत्र “कबाला” में लाल चन्द्र ग्रहण का महत्व : Yogesh Mishra

यहूदियों के भविष्य कथन की पुस्तक “तेलमुद” में भविष्य के विश्व सत्ता की रणनीति को लागू करने का वर्णन विस्तार से है ! जिसे हम नयी विश्व व्यवस्था या नयी विश्व सत्ता भी कह सकते हैं ! जो विशुद्ध तंत्र की ताकत और षडयंत्रों की शक्ति से स्थापित की जा …

Read More »

धर्म ग्रंथों में सम्भोग का अर्थ सैक्स नहीं है ! : Yogesh Mishra

गीता प्रेस के संक्षिप्त देवी भाष्य के आधार पर आधारित एक पुस्तक जिसका कि नाम गीता आगे स्पष्ट है उसमें यह लिखा गया की ब्रह्मा जी ने अपनी बेटी सरस्वती के साथ संभोग अर्थात सेक्स करने की इच्छा रखी थी जिस पर वहां के कुछ सनातन धर्म को आपत्ति हुई …

Read More »

मणिकर्णिका घाट पर धनाकर्षण तंत्र साधना : Yogesh Mishra

प्राचीन ग्रन्थों के अनुसार मणिकर्णिका घाट का स्वामी वही डोम राजा चाण्डाल था ! जिसने रघुवंश के सत्यवादी राजा हरिशचंद्र को खरीद लिया था ! किंतु प्रश्न यह है कि बैरागी की नगरी काशी के चांडाल के पास इतनी संपन्नता आयी कहां से कि उसने महाप्रतापी रघुवंश के सत्यवादी हरिश्चंद्र …

Read More »

तंत्र का रहस्य पूर्ण विवेचन ! Yogesh Mishra

तंत्र विद्या कठिन साधना है ! तंत्र विद्या का मनुष्य के जीवन में अलग ही प्रभाव पड़ता है ! शिव जगत पिता हैं तथा इस संसार की संरचना में उनकी इच्छा को मूर्त रूप देने के लिए उनकी शक्ति ही प्रकृति का रूप धारण करती है ! यह शक्ति ईश्वर …

Read More »

अघोर साधना से आत्म दर्शन कैसे करें : Yogesh Mishra

अघोर विश्वास के अनुसार अघोर शब्द मूलतः दो शब्दों ‘अ’ और ‘घोर’ से मिल कर बना है ! जिसका अर्थ है जो कि घोर न हो अर्थात सहज और सरल हो ! इसका अर्थ यह हुआ कि व्यक्ति का अघोर होने की पहली शर्त यह है कि व्यक्ति संसार के …

Read More »

अघोर तंत्र का चमत्कारी इतिहास जानिए : Yogesh Mishra

अघोर पंथ के प्रणेता भगवन शिव माने जाते हैं ! कहा जाता है कि भगवन शिव ने स्वयं अघोर पंथ को प्रतिपादित किया था ! अवधूत भगवन दत्तात्रेय को भी अघोरशास्त्र का गुरू माना जाता है ! अवधूत दत्तात्रेय को भगवन शिव का अवतार भी मानते हैं ! अघोर संप्रदाय …

Read More »

आध्यात्मिक शक्ति से अति आधुनिक हथियार कैसे निस प्रयोज्य होंगे : Yogesh Mishra

हम सभी जानते हैं कि अब परंपरागत युद्ध जो कभी बम, बारूद, बंदूक, तोप, टैंक आदि से लड़ा जाता था ! उसका युग खत्म हो गया है ! अब आज के दौर में विज्ञान ने ऐसे आधुनिक हथियार विकसित कर लिये हैं कि जिनका युद्ध में प्रयोग करने के लिये …

Read More »

विज्ञान की द्रष्टि में भैरव तंत्र : Yogesh Mishra

विज्ञान का अर्थ है चेतना ! भैरव का अर्थ वह अवस्था है ! जो चेतना से भी परे है और तंत्र का अर्थ विधि है ! चेतना के पार जाने की विधि ! हम मूर्छित हैं ! अचेतन हैं ! इसलिये सारी धर्म-देशना अचेतन के ऊपर उठने की; चेतन होने …

Read More »

जानिए तंत्र को बदनाम करने में कौन कौन सी साजिशें की गई : Yogesh Mishra

तंत्र को लेकर समाज में फैली कुरीतियाँ, अंधविश्वास और अज्ञानता तंत्र साधक वर्ग के लिये कष्टदायी है ! आये दिन ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जिसमें मानसिक रूप से कुंठित लोगों के क्रियाकलापों को कारण तंत्र और तांत्रिक दोनों ही बदनाम हो रहे हैं ! मेरा कहना है किसी भी …

Read More »