Tantra

यह दुर्लभ चंद्र ग्रहण सामान्य नहीं है : Yogesh Mishra

कोरोना की महामारी के काल में 26 मई 2021 को होने वाला दुर्लभ चंद्र ग्रहण सामान्य चंद्र ग्रहण नहीं है ! इसे ‘खूनी लाल सुपरमून’ चंद्र ग्रहण कहा जाये तो यही उचित रहेगा ! इस तरह के चंद्रग्रहण का प्रयोग “कबाला तंत्र” की सिद्धि के लिये किया जाता है ! …

Read More »

मात्र शैव तंत्र ही मानव का कल्याण कर सकता है : Yogesh Mishra

भगवान शिव ही शैव तंत्र विज्ञान के अविष्कारक हैं क्योंकि आज विश्व में जो मानव संस्कृति दिखाई दे रही है इसके निर्माता, संरक्षक व निर्देशक भगवान शिव ही हैं ! सतयुग में समस्त सृष्टि पर भगवान शिव का ही एकाधिकार था ! कालांतर में सतयुग के उत्तरार्ध में ब्रह्म संस्कृति …

Read More »

मारण तंत्र की पहचान कैसे करें : Yogesh Mishra

मारण तंत्र तंत्र की निकृष्टतम विधा है अर्थात दूसरे शब्दों में कहा जाये तो जब तंत्र की अन्य सभी विधायें आप के उद्देश्य की पूर्ति नहीं करा पा रही है तब व्यक्ति को अपने व अपने परिवार या अपने राष्ट्र की रक्षा के लिये मारण तंत्र का प्रयोग करना चाहिए …

Read More »

लंकेश तंत्र ही मानव का कल्याण कर सकता है : Yogesh Mishra

श्रीलंका को भगवान शिव ने बसाया था ! शिव की आज्ञा पर विश्वकर्मा ने वहां पर एक सोने के महल का निर्माण किया था ! जिसे रावण के पिता ऋषि विश्रवा ने भगवान शिव से दान में मांग लिया था और अपने बड़े पुत्र कुबेर को दे दिया था ! …

Read More »

मारण तंत्र कैसे काम करता है : Yogesh Mishra

मारण तंत्र का उपचार करने उपरांत भी व्यक्ति की मृत्यु क्यों हो जाती है मेरे शिष्य बलजीत जी के मित्र के पिताजी पर मारण तंत्र का प्रयोग किया गया था ! जो कि लगभग डेढ़ माह से तंत्र के प्रभाव में थे और उनका स्वास्थ्य निरंतर गिरता जा रहा था …

Read More »

साधक तंत्र शक्ति का प्रयोग सभी के हित में क्यों नहीं करते हैं : Yogesh Mishra

आजकल कोविड-19 के प्रभाव से समाज में बहुत बड़े पैमाने में लोगों की आकस्मिक मृत्यु हो रही है ! जिसको लेकर प्राय: लोग यह प्रश्न करते हैं कि यदि मंत्र तंत्र में शक्ति है तो भारत के ऋषि, मुनि, ज्ञानी, तंत्र विशेषज्ञ समाज की रक्षा के लिये इसको नियंत्रित क्यों …

Read More »

हिन्दुत्व को ख़त्म करने के लिये अंग्रेजों का तांत्रिक षडयंत्र : Yogesh Mishra

ब्रिटिशों के शासनकाल में अंग्रेजों ने सनातन हिन्दू धर्म को मिटाने के लिये हिन्दू धर्म के अंदर से ही लोगों को चुन कर उन्हें ट्रेंड किया और हिन्दू समाज में समाज सुधारक के रूप में स्थापित करना शुरू किया ! इसका कारण यह था कि अंग्रेज जानते थे कि भारतवर्ष …

Read More »

यहूदी तंत्र “कबाला” में लाल चन्द्र ग्रहण का महत्व : Yogesh Mishra

यहूदियों के भविष्य कथन की पुस्तक “तेलमुद” में भविष्य के विश्व सत्ता की रणनीति को लागू करने का वर्णन विस्तार से है ! जिसे हम नयी विश्व व्यवस्था या नयी विश्व सत्ता भी कह सकते हैं ! जो विशुद्ध तंत्र की ताकत और षडयंत्रों की शक्ति से स्थापित की जा …

Read More »

धर्म ग्रंथों में सम्भोग का अर्थ सैक्स नहीं है ! : Yogesh Mishra

गीता प्रेस के संक्षिप्त देवी भाष्य के आधार पर आधारित एक पुस्तक जिसका कि नाम गीता आगे स्पष्ट है उसमें यह लिखा गया की ब्रह्मा जी ने अपनी बेटी सरस्वती के साथ संभोग अर्थात सेक्स करने की इच्छा रखी थी जिस पर वहां के कुछ सनातन धर्म को आपत्ति हुई …

Read More »

मणिकर्णिका घाट पर धनाकर्षण तंत्र साधना : Yogesh Mishra

प्राचीन ग्रन्थों के अनुसार मणिकर्णिका घाट का स्वामी वही डोम राजा चाण्डाल था ! जिसने रघुवंश के सत्यवादी राजा हरिशचंद्र को खरीद लिया था ! किंतु प्रश्न यह है कि बैरागी की नगरी काशी के चांडाल के पास इतनी संपन्नता आयी कहां से कि उसने महाप्रतापी रघुवंश के सत्यवादी हरिश्चंद्र …

Read More »