कुण्डली के मुख्य ग्रह को पहचानिये ! : Yogesh Mishra

कौन सा ग्रह सबसे बलशाली है कुंडली मे मुख्य ग्रह की बहुत ही विशेषता है ! अगर कुंडली मे मुख्य ग्रह मजबूत है तो आपको दूसरें ग्रहों के बारे में सोचने की ज़रूरत नहीं है ! मुख्य ग्रह के मजबुत होने पर आपकी सारी समस्याओं का हल हो जाता है !

प्रत्येक कुण्डली में एक विशेष ग्रह होता है, जो कुण्डली का प्राण होता है ! इस ग्रह के कमजोर होने पर व्यक्ति कों सफलता नहीं मिलती है, अगर मिलती भी है तो बड़ी मुशकीलों का सामना करना पड़ता है ! यह आपको लग्न के अनुसार बताया जा रहा है :-

(1) मेष लग्न :- इस लग्न का मुख्य ग्रह सूर्य है ! इस लग्न में सूर्य चमत्कारी परिणाम देता है ! अगर कुण्डली में सूर्य मजबुत हो तो हर तरह की सफलता पाई जा स्कती है ! सूर्य मजबुत होने पर स्वास्थ हमेशा अच्छा बना रहता है !

(2) वृष लग्न :– इस ग्रह का मुख्य ग्रह शनि है ! इस लग्न में शनि सबकुछ होता है ! अगर शनि मजबुत हो तो सारी समस्याओं का समाधान हो जाता है ! इस लग्न में शनि धन , सेहत , वैभव , और रिशतों का वरदान् देता है ! अगर शनि मजबुत हो तो कोई भी बीमारी बड़ा रुप धारण नहीं कर सकती है !

(3) मिथुन लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह बुध होता है ! इस लग्न का स्वामी भी बुध होता है ! बुध आर्थिक– मजबुती देता है और व्यक्ति की सोच कों बेहतर रखता है ! अगर बुध कमजोर हो तो बुद्धि भ्रष्ट हो जाती है ! व्यक्ति ठीक समय पर निर्णय नहीं लें पाता है और ज़िन्दगी ढह जाती है और कोई भी सफलता नहीं मिलती है !

(4) कर्क लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह मंगल है ! कर्क लग्न सबसे बड़ा राजसी लग्न होता है ! इस लग्न में सबसे बड़ी शक्ती मंगल के पास होती है ! अगर मंगल मजबुत हो तो सफलता मिलती रहती है !दुर्घटना और सेहत की समस्या से बचाव होता है ! व्यक्ति कों कम प्रयास में ही सफलता मिलती है ! इस लग्न में अगर मंगल– अच्छा ना हो तो व्यक्ति का विकास नहीं होता है !

(5) सिहृं लग्न :– इस लग्न में दो मुख्य ग्रह होतें है मंगल और गुरू ! इस लग्न की ताकत दोनों ग्रहों में विभाजित हो जाती है ! अगर दोनों ग्रह अच्छें हो तो जीवन में आने वालें उतार – चढ़ावं से बचें रहेंगे ! मंगल और गुरू के मजबुत होने पर जीवन में संघर्ष कम हो जाता है ! मजबुत होने पर व्यक्ति की ताकत और प्रभाव कों बड़ाता है !

(6) कन्या लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह शुक्र है ! शुक्र इस लग्न में सबसे ज्यादा बेहतर परिणांम देता है ! शुक्र के मजबुत होने पर वैभव एवं रिश्तों का वरदान मिलता है ,अगर शुक्र अच्छा हो तो ग्लैमर मिलता है और सुख सफलतां मिलती है !

(7) तुला लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह शनि होता है ! अगर शनि मजबुत हो तो व्यक्ति अपुर्व सफलता प्राप्तं करता है ! जीवंन में किसी भी चीज का अभाव नहीं रहता है ! शनि के मजबुत होने पर व्यक्ति समाज में विशिष्ठ स्थान पाता है !

(8) वृशिचक लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह गुरू है ! गुरु के मजबुत होने पर धन ,मान ,स्वास्थ ,संतान और ज्ञान का वरदान मिलता है ! गुरू के कमजोर होने पर सफलता नहीं मिलती है !

(9) धनु लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह मंगल है ! इस लग्न में सारी शक्ति मंगल के पास होती है ! मंगल मजबुत होने पर जीवंन् में संघर्ष कम हो जाता है ! मुकदमों और विवादों से छुटकारा मिलता है ! धनु लग्न .में शनि का दुष्प्रभाव जल्दी हो जाता है ! मंगल मजबुत होनें पर यह शनि के दुष्प्रभाव से बचाता है !

(10) मकर लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह शुक्र है ! शुक्र मजबुत होने पर विद्या ,बुद्धि ,धन का लाभ देता है ! यह करियर का लाभ देता है ! मजबुत होने पर स्वास्थ और संतान की समस्या से बचाव करता है ! इस लग्न वालों कों शराब और नशें से परहेज करना चाहिऐं !

(11) कुम्भ लग्न :– इस लग्न में मुख्य दो ग्रह होतें है बुध और शुक्र ! शुक्र ज्यादा महत्वपूर्ण होता है ! अगर शुक्र माइंड रीडर अच्छा हो तो नाम ,यश , ग्लैमर मिलता है ! व्यक्ति करियर की उचाईयों कों छुता है ! शुक्र हर तरह की मानसिक समस्याओं से छुटकारा दिलता है !

(12) मीन लग्न :– इस लग्न का मुख्य ग्रह चन्द्र होता माइंड रीडर है ! इस लग्न की सारी ताकत चन्द्र के पास होती है ! चन्द्र मजबुत होने पर व्यक्ति ज्ञानी ,शानदार और सफल होता है ! चन्द्र अच्छा करियर देता है ! चन्द्र मजबुत होने पर अच्छी संपति का वरदान भी मिलता है !

अपने बारे में कुण्डली परामर्श हेतु संपर्क करें !

योगेश कुमार मिश्र 

ज्योतिषरत्न,इतिहासकार,संवैधानिक शोधकर्ता

एंव अधिवक्ता ( हाईकोर्ट)

 -: सम्पर्क :-
-090 444 14408
-094 530 92553

comments

Check Also

गर्भ काल में शिशु को कैसे पोषित व सुरक्षित करें !!

संतति का जन्म सनातन धर्म में एक आध्यात्मिक कार्य है ! आने वाली पीढ़ियों के …