क्या विश्व सत्ता के नुमाइंदे धरती की ओर कूच कर चुके हैं : Yogesh Mishra

जैसा कि मैं अपने लेखों के माध्यम से बहुत पहले से यह दावा कर चुका हूं कि पृथ्वी पर जनसंख्या नियंत्रण के लिए जो कुछ भी अप्रत्याशित घट रहा है ! उसके पीछे ब्रह्मांड की कुछ अति विकसित शक्तियों का हाथ है ! जिन्हें हम अपने लेखों में विश्व सत्ता के नाम से अनेकों बार घोषित कर चुके हैं ! अब हमारी बात का समर्थन अमेरिका के हॉवर्ड यूनिवर्सिटी के प्रमुख वैज्ञानिक एवि लोएब ने भी करना शुरू कर दिया है ! जो कि प्रसिद्ध भौतिकशास्त्री स्टीफन हॉकिंग के साथ भी काम कर चुके हैं !

उनका दावा है कि बहुत जल्द ही पृथ्वी पर दूसरे ग्रहों से आये हुए लोगों की सत्ता होगी और पृथ्वी के सारे संविधान रद्द कर दिये जाएंगे ! न तो पृथ्वी पर कोई राजनीतिक देश होगा और न ही कोई धर्म होगा ! पूरी पृथ्वी पर एक ही डिजिटल मुद्रा चलेगी और विश्व के सभी व्यक्तियों को एक ही सरकार के आदेश का अनुपालन करना होगा ! बीजा, पासपोर्ट या अन्तर्राष्ट्रीय संधियों का भी झंझट नहीं होगा ! तब न तो कोई किसी का शोषण कर सकेगा और न ही कोई किसी पर शासन कर सकेगा ! यह सब कुछ बहुत जल्द निकट भविष्य में होने जा रहा है !

फ्यूचर टाइम ट्रैवलर ने अपने एक वीडियो के कैप्शन में लिखा है कि ‘जिसे आप एलियंस कहते हैं, वह अगले साल पृथ्वी पर अपनी पहली उपस्थिति बनायेंगे ! उनके पृथ्वी पर आने की सही तारीख 24 मई, 2022 है वह 2491 तक नागरिक समूहों के रूप पृथ्वी पर स्थाई रूप से रहने लगेंगे ! इन्हें विश्व सत्ता निरोन नागरिकता प्रदान करेगी !

विश्व सत्ता के इस अभियान को पृथ्वी पर इलुमिनाटी के सदस्य अंजाम देने के लिये पूरी ताकत से लगे हुये हैं ! उनका सबसे हैरान कर देने वाला विषय यह है कि आज विश्व की जो आबादी 700 करोड़ की है, उसे वह अगले 20 वर्षों में मात्र 50 करोड़ में समेट देंगे ! इसके लिए तरह-तरह के आर. एन. ए. बेस प्रयोग विश्व के अनेकों प्रयोगशालाओं में विश्व सत्ता के इशारे पर किये जा रहे हैं !

अब मात्र वही व्यक्ति इस पृथ्वी पर जीवित रहेगा, जो पूरी तरह से विश्व सत्ता के इशारे पर कार्य करने वाला होगा ! पृथ्वी पर जीवित रहने वाले उन 50 करोड़ व्यक्तियों के मस्तिष्क के अंदर मिड ब्रेन में एक चिप लगा दी जाएगी ! जिसका संबंध सीधे-सीधे एक सुपर कंप्यूटर से होगा ! जिसके द्वारा वह मनुष्य क्या सोच रहा है और उसे क्या करना है ! यह दोनों चीजों को ही विश्व सत्ता द्वारा नियंत्रित किया जायेगा और जो भी व्यक्ति अनुशासनहीनता करेगा ! उसे तत्काल इस धरती से विदा कर दिया जाएगा !

हाथ में उंगली और अंगूठे के मध्य एक चावल के दाने के बराबर चिप लगी होगी ! जिसके द्वारा दुनिया के सारे ताले खुलेंगे और बंद किये जा सकेंगे ! यही चिप आप का संपूर्ण बैंक होगा ! जहां से प्राप्त सिग्नल के आधार पर आप दुनिया में अपने उपयोग की कोई भी चीज खरीद या बेच सकेंगे ! आपकी सेवाओं का मूल्य स्वत: ही आपके इस चिप में संकलित हो जाएगा ! जिसे आप अपनी इच्छा से खर्च कर सकेंगे !

लेकिन हर क्रय विक्रय का रिकॉर्ड विश्व सत्ता रखेगा और यदि विश्व सत्ता को यह लगेगा कि आप उनके लिए खतरा बन रहे हैं तो वहीं से वह आपके हाथ में लगे हुये चिपको इन एक्टिव करके आपको करोड़पति होते हुए भी तुरन्त भिखारी बना देगा और इन घटनाओं की किसी भी न्यायालय में कोई भी सुनवाई नहीं होगी !

इन कार्यों को क्रियान्वित करने के लिए एलियंस की एक बहुत बड़ी टीम पृथ्वी की ओर रवाना हो चुकी है ! जो बहुत जल्द ही पृथ्वी पर आएगी और अमेरिका के एक अज्ञात गुप्त स्थान पर जिसका वर्णन ने पूर्व के लेख में किया है ! वहां से वह लोग विश्व के सभी लोगों को अपने अति आधुनिक कम्प्युटरों द्वारा नियंत्रित करेंगे ! इसमें विरोध या विद्रोह की कोई गुंजाइश नहीं होगी ! जो भी व्यक्ति विरोध या विद्रोह करेंगे, उन्हें तत्काल प्रभाव से इस धरती से मुक्त कर दिया जाएगा !

इसी के लिए आपके डी.एन.ए. को बदलने की एक विस्तृत कार्य योजना वर्तमान में चल रही है ! जो आर.एन.ए बेस्ट दवा के रूप में अनावश्यक रूप से आपके शरीर में डाली जा रही है ! जिससे आपके सोचने समझने विश्लेषण करने और निर्णय लेने की क्षमता और शक्ति धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी !

प्रोफेसर एवि लोएब ने पहले भी दावा किया था कि 2017 में एलियंस धरती पर आए थे ! लेकिन दुनियां को चलाने वालों ने एलियंस के धरती पर आने की घटना को छिपा लिया दिया था ! उस समय भी प्रोफेसर एवि लोएब के दावे ने पूरी दुनिया में सनसनी फैला दी थी और अब प्रोफेसर एवि लोएब ने एक और दावा किया है कि इंसानों को अब एलियंस से खुद को बचाना ही होगा क्योंकि वह विज्ञान के अलौकिक शक्तियों से संपन्न दूसरे ग्रहों के निवासियों हैं ! अगर अब हम नहीं जागे तो हमें उनके साथ समझौता करने के लिए तैयार हो जाना चाहिए क्योंकि वह हमारे मुकाबले काफी ज्यादा शक्तिशाली और उन्नत हैं !

प्रोफेसर एवि लोएब का कहना है कि हमारे पास ऐसी क्षमता नहीं है कि हम उनकी चालों को पकड़ सकें ! हालांकि प्रोफेसर एवि लोएब का कहना है कि उन्होंने ब्रह्मांड में अनेक ग्रहों पर व्याप्त अन्तः कलह से अनेकों ग्रहों को बचाने के लिए यह एक सॉल्यूशन प्रोग्राम एक अभियान के तौर पर शुरू किया है !

इस सन्दर्भ में प्रोफेसर एवि लोएब ने अलौकिक सभ्यताओं के साथ समझौते के लिए जो तरीका सुझाया है, वह समझौता प्रस्ताव करीब-करीब अमेरिका और रूस के बीच परमाणु परीक्षण प्रतिबंध संधि के समान ही है ! जिस पर 1963 में अमेरिका, ब्रिटेन और सोवियत संघ की सरकारों ने हस्ताक्षर कर किए थे !

प्रोफेसर एवि लोएब के मुताबिक इंसान इस गाइड लाइंस का इस्तेमाल कर हमारी आकाशगंगा में मौजूद दूसरी काफी उन्नत सभ्यता से संपर्क स्थापित कर ब्रहमांड से आने वाली किसी तबाही को रोक सकता है !

आपको बता दें कि प्रोफेसर लोएब कैम्ब्रीज के मैसाचुएट्स में स्थिति लीग कॉलेज में काफी लंबे वक्त तक अपनी सेवा दे चुके हैं और उन्होंने 2017 में एलियंस के धरती पर आने का दावा कर पूरी दुनिया को सकते में डाल दिया था ! वहीं, अब इस बात की काफी संभावना जताई जा रही है कि प्रोफेसर एवि लोएब एलियंस या फिर किसी उन्नत सभ्यता से संपर्क बनाने की कोशिश कर रहे हैं या फिर प्रोफेसर लोएब शायद यह जान गये हैं कि धरती से बाहर किसी उन्नत सभ्यता के पास काफी शक्तिशाली और उन्नत मशीन मौजूद हैं !

‘साइंटिफिक अमेरिका’ में किया दावा प्रोफेसर एवि लोएब ने ‘साइंटिफिक अमेरिका’ में अपने लेख में लिखा था कि ‘कल्पना कीजिए कि ब्रह्मांड में कहीं एक उन्नत सभ्यता है, जिसने काफी तेज गति का इलेक्ट्रॉन विज्ञान को विकसित कर लिया है ! जो ब्लैक ऊर्जा पर इलेक्ट्रॉन का टकराव करवाने में सक्षम है ! जहां पर गुरुत्वाकर्षण को मात्र एक यांत्रिक ऊर्जा के तौर पर देखना चाहिए !

उन्होंने कहा कि पार्टिकिल एक्सलेटल इलेक्ट्रॉमैग्नेटिक फील्ड का इस्तेमाल किसी दूसरे पार्टिकिल को शूट करने के लिए करता है, और यह एक्शन काफी ज्यादा तेज रफ्तार में अंजाम देने वाला होता है, जिसके बारे में वैज्ञानिकों का मत है कि इसका इस्तेमाल “डार्क थ्योरो” को समझने और टाइम ट्रैवल करने के लिए किया जाता है !

वैज्ञानिक प्रोफेसर लोएब ने उनके संभावित विकसित हथियार के विषय में बतलाया कि यह संभव है कि वह भविष्य में एक अनंत अज्ञात दुनिया से हमारी तरफ से एक पार्टिकल भेजें ! यह एक बुलबुले का तरह होगा, जिसमें अनंत उर्जा होगी ! इस एनर्जी को डार्क एनर्जी भी कहा जा सकता है, क्योंकि इसका नेचर बहुत ही विध्वंसक होगा !

यह ऊर्जा का मात्र एक बुलबुला होगा जो प्रकाश की रफ्तार से हमारी ओर आगे बढ़ेगा और अपने रास्ते में आने वाले हर एक चीज को अपने में समेट कर तबाह करता चला जायेगा ! क्योंकि इस डार्क एनर्जी बुलबुले में वही शक्ति होगी जो ब्लैक होल में होती है ! जिसमें पूरा का पूरा ग्रह समा जाता है ! अगर हमने उनकी बात नहीं मानी तो वह इस ऊर्जा के द्वारा हमारी पृथ्वी को भी नष्ट कर सकते हैं ! जिससे हमारा अस्तित्व भी खतरे में पड़ सकता है !

कुछ समय पहले इजरायल स्पेस सिक्योरिटी एजेंस के पूर्व प्रमुख हैम इशद ने भी यही दावा किया था कि एलियन वास्तव में हैं ! इजरायल और अमेरिका कई सालों से एलियंस से संपर्क में हैं ! उन्होंने यह भी कहा था कि एलियंस ने ही अपनी मौजूदगी की जानकारी सार्वजनिक नहीं करने की शर्त रखी है !

किन्तु यह भी सत्य है कि इन एलियंस की सुविधाओं के लिये विश्व में बड़ी-बड़ी योजनाएं गुप्त रूप से क्रियान्वित की जा रही हैं ! जो कार्य एक अत्यंत गुप्त व्यवसायिक संस्था इलुमिनाटी कर रही है ! जिस संदर्भ में मैंने अनेकों लेख पूर्व में प्रकाशित किया हैं ! लेकिन लोगों को विश्वास नहीं हो रहा है, शायद अपने सर्वनाश तक विश्वास न हो लेकिन सत्य यही है !!

अपने बारे में कुण्डली परामर्श हेतु संपर्क करें !

योगेश कुमार मिश्र 

ज्योतिषरत्न,इतिहासकार,संवैधानिक शोधकर्ता

एंव अधिवक्ता ( हाईकोर्ट)

 -: सम्पर्क :-
-090 444 14408
-094 530 92553

comments

Check Also

विश्व सत्ता के अदृश्य पहरे की तैय्यारी : Yogesh Mishra

जैसा कि बतलाया जाता है कि दुनिया भर में संक्रमण के 31.05 करोड़ से ज़्यादा …