Untold Facts

महाभारत ग्रंथ का एक अनकहा पन्ना.श्री कृष्ण की आत्मग्लानि ! जरूर पढ़े !

  मित्रों ऋषि वेदव्यास द्वारा लिखित महाभारत ग्रंथ के कुछ अध्याय ऐसे भी हैं ,जिन पर कभी भी अधिक चर्चा नहीं हो पाई,इनके अनुसार जब  महाभारत युद्ध का समापन हो गया था | युद्ध अतिविनाशकारी सिद्ध हुआ था, विजेता भी पराजित ही सिद्ध हुए थे क्योंकि उन्हे जो धरती मिली …

Read More »

1857 की क्रांति के बाद भारत के गद्दारों को इकट्ठा करके बनाई गई थी कांग्रेस पार्टी ,पढ़े पूरा लेख !

भारत के कुछ गद्दार राजघरानों के अंग्रेजों से मिल जाने के कारण 1857 की क्रांति विफल हो चुकी थी | देश को स्वतंत्र कराने वाले योद्धाओं को अंग्रेजों ने ढूंढ ढूंढ कर नगरों में सार्वजनिक रूप से जिंदा जला दिया था | चारों तरफ अंग्रेजो के खिलाफ भय और असंतोष …

Read More »

राक्षस नहीं ब्रह्मा के वंश का देवयोनि के उच्चकुल का ब्राह्मण था रावण ! पढ़े पूरा लेख !

सामान्यतया यह माना जाता है के रावण दुष्ट प्रवृत्ति का राक्षस व्यक्ति था लेकिन यह सूचना गलत है रावण भगवान ब्रह्मा के वंश का एक देवयोनि का उच्चकुल का ब्राह्मण था जिसने अपने ज्ञान और पुरुषार्थ से भगवान शिव को प्रसन्न कर कुछ ऐसी शक्तियां प्राप्त करली थी जिनके प्रभाव …

Read More »

नेहरु कैसे आनंद भवन के मालिक बने जानिये वास्तविक सत्य ! Yogesh Mishra

गियासुदीन गाजी असल में एक सुन्नी मुसलमान थे 1857 की क्रांति से पहले आखिरी मुग़ल बादशाह बहादुरशाह जफर के साम्राज्य में शहर कोतवाल हुआ करते थे और 1857 की क्रांति के बाद, जब अंग्रेजों का भारत पर अच्छे से कब्ज़ा हो गया तो अंग्रेजों ने मुगलों का क़त्ल-ए-आम शुरू कर …

Read More »

जानिये:कुरान की कौन-कौन सी 24 आयातों को दिल्ली कोर्ट ने बताया समाज के लिए हानिकारक !

कुरान की चौबीस आयतें और उन पर दिल्ली कोर्ट का फैसला श्री इन्द्रसेन (तत्कालीन उपप्रधान हिन्दू महासभा दिल्ली) और राजकुमार ने कुरान मजीद (अनु. मौहम्मद फारुख खां, प्रकाशक मक्तबा अल हस्नात,रामपुर उ.प्र. 1966) की कुछ निम्नलिखित आयतों का एक पोस्टर छापा जिसके कारण इन दोनों पर भारतीय दंड संहिता की …

Read More »

भारत देश में ईसाई मत का आगमन और कारनामो का पर्दाफाश .Yogesh Mishra

भारत देश में ईसाई मत का आगमन कब हुआ। यह कुछ निश्चित नहीं हैं। एक मान्यता के अनुसार 52 AD में संत थॉमस का आगमन दक्षिण भारत में हुआ। उनके प्रभाव से ईसाई बने भारतीय अपने आपको सीरियन ईसाई कहते हैं। ईसाई इतिहासकारों की इस मान्यता में अनेक कल्पनायें समाहित …

Read More »

जानिये: भारतीय संविधान बदलने की जरूरत क्यों है ? और क्यों भारत की आज़ादी एक धोखा है ?? योगेश मिश्र !

भारत की आज़ादी एक धोखा है वर्ष 1992 में तीन वर्ष के अथक शोध के बाद मेरे द्वारा लिखी गई 320 पन्नों की एक पुस्तक “भारत की आज़ादी एक धोखा है” जिसे मैने पढ़ने के लिये “राजीव दीक्षित” को दिया था | इसी पुस्तक के अंशों की चर्चा अनेक व्याख्यानों …

Read More »

पिछले डेढ़ दशक में 2000 के करीब हो चुकी है भारतीय वैज्ञानिको की रहस्यमयी मौतें ! पढ़े ख़बर पढ़े !

आखिर कौन मार देता है भारत के होनहार वैज्ञानिकों को ? भारत विज्ञान के पथ पर आगे बढ़ रहा है, परंतु प्रगति का यह मार्ग लगता है खून से रंगा जा रहा है । पंद्रह वर्षो में देश के उच्च कोटि के वैज्ञानिको व विज्ञान से जुड़ी खोज संस्थाओं में …

Read More »

कुतुबमीनार वास्तव में हिन्दुओ का विष्णु संतभ है ,पढ़े पूरा इतिहास ,शेयर करें ! Yogesh Mishra

कुतुबुद्दीन ऐबक दुर्दांन्द लुटेरा शहाबुद्दीन मुहम्मद गौरी का अति महत्वाकॉँक्षी सैन्य गुलाम था | उसे बचपन में मुहम्मद गौरी को एक दास के रूप में बेच दिया गया था पृथ्वी राज चौहान द्वारा मोहम्‍मद गोरी को मारे जाने के बाद कुतुबुद्दीन ऐबक ने स्वयं को लाहौर में एक स्वत्रंत शासक …

Read More »

भगवान कृष्ण से जुड़े किसी भी मूल ग्रंथ में नहीं मिलता ‘राधा’ का वर्णन ,महत्वपूर्ण लेख जरूर पढ़ें ।

श्रीमद्भा भागवत पुराण में श्रीकृष्ण की बहुत सी लीलाओं का वर्णन है, पर “राधा” का वर्णन कहीं नहीं है। “राधा” का वर्णन मुख्य रूप से “ब्रह्मवैवर्त पुराण” में आया है। जो श्रीकृष्ण के समकालीन वेद व्यास द्वारा लिखित नहीं है | “ब्रह्मवैवर्त पुराण” ब्रह्मखंड के पाँचवें अध्याय में श्लोक 25,26 के अनुसार …

Read More »