जानिये । भारतीय शास्त्रों के अनुसार किस दिन किस देवी-देवता के लिए व्रत करना चाहिए Yogesh Mishra

रविवार– अच्छा स्वास्थ्य व तेजस्विता पाने के लिए रविवार के दिन उपवास रखना चाहिए। रविवार सूर्य का दिन होता है और सूर्य सभी ग्रहों के मुखिया है।

सोमवार- ज्यादा उग्र स्वभाव वाले अथवा अधिक क्रोध करने वाले व्यक्ति को सोमवार का उपवास रखना चाहिए। ज्योतिष के अनुसार सोमवार का दिन चंद्रमा का होता है। इसी दिन सूर्य-पृथ्वी और चंद्रमा की अवस्था इस तरह की होती है कि हमारे शरीर पर उसका शांतिदायक प्रभाव पड़ता है।

मंगलवार– मंगल से पीङित व्यक्ति को मंगलवार का उपवास एवं हनुमान जी की आराधना अवश्य करनी चाहिए। हर कार्य में मंगलकारी परिणाम प्राप्त करने के लिए मंगलवार का उपवास रखना चाहिए।

बुधवार- कमजोर मस्तिष्क वाले एवं आत्मिक ज्ञान प्राप्त करने के लिए व्यक्ति को बुधवार के दिन उपवास रखना चाहिए। यह भगवान गणेश का दिन माना गया है और श्रीगणेश बुद्धि के दाता है। बुधवार का दिन बुद्धि प्राप्ति का दिन होता है।

गुरुवार- बृहस्पति, देवताओं के गुरु हैं। उथली व छिछली मानसिकता वाले व्यक्ति को बृहस्पतिवार का उपवास अवश्य रखना चाहिए। बृहस्पति सत्व गुणी हैं तथा ज्ञान, अच्छे एवं सकारात्मक विचार और शिक्षण का प्रतिनिधित्व करते हैं।

शुक्रवार- शीघ्रपतन, प्रमेह रोग के रोगियों को शुक्रवार के दिन उपवास रखना चाहिए क्योंकि शुक्रवार ओज, तेजस्विता, शौर्य, सौंदर्यवर्धक और शुक्रवर्धक होता है। ज्योतिष के अनुसार शुक्र देव ‘शुक्र वार’ के स्वामी हैं। वे धन, खुशी, सौंदर्य और प्रजनन का प्रतिनिधित्व करते हैं

शनिवार– समस्त दुखों एवं परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए शनिवार के दिन उपवास रखना चाहिए। भगवान शनि आपके समस्त परेशानियों को दूर करने में आपकी सहायता करते हैं।

अपने बारे में कुण्डली परामर्श हेतु संपर्क करें !

योगेश कुमार मिश्र 

ज्योतिषरत्न,इतिहासकार,संवैधानिक शोधकर्ता

एंव अधिवक्ता ( हाईकोर्ट)

 -: सम्पर्क :-
-090 444 14408
-094 530 92553

comments

Check Also

आरंभिक साधक को नकारात्मक विचारों वाले व्यक्तियों से क्यों दूर रहना चाहिए ? जरूर पढ़ें !

दो व्यक्तियों के मध्य सकारात्मक ऊर्जा का आदान प्रदान हो यह आवश्यक नहीं. इसका अर्थ …