अडॉल्फ हिटलर बर्लिन मरा नहीं बल्कि अर्जेंटीना चला गया था ! : Yogesh Mishra

जर्मनी के नाजी तानाशाह अडॉल्फ हिटलर की मौत पर हमेशा से ही विवाद रहा है ! आमतौर पर धारणा है कि हिटलर ने 1945 में मित्र देशों की सेना के बर्लिन पहुंचने पर अपनी प्रेमिका ईवा ब्राउन सहित एक भूमिगत बंकर में आत्महत्या ली थी ! इतिहासकारों के मुताबिक हिटलर के शव की शिनाख्त नहीं की गई थी क्योंकि कुछ जर्मन सैनिकों ने हिटलर के आदेश पर उनके शवों को जला दिया था !

तभी से हिटलर की मौत पर रहस्य गहराया हुआ है ! इस मामले पर पक्ष-विपक्ष में कई दावे किये जाते रहे हैं ! हाल ही में एक किताब में भी दावा किया गया है कि दरअसल हिटलर 1945 में बर्लिन स्थित भूमिगत बंकर में मरा नहीं था बल्कि वह अमेरिका से हुये एक गुप्त समझौते के तहत ईवा ब्राउन को लेकर दक्षिण अमेरिकी के अर्जेंटीना में अपने कुछ विश्वसनीय साथियों के साथ चला गया था ! जहां जहां 94 साल की उम्र में 1984 में उसकी स्वाभाविक मृत्यु हुयी थी !

इसकी पुष्ठि अमेरिका के गुप्तचर विभाग के वर्ष 2014 में जारी किये गये दस्तावेज़ भी करते हैं ! हिटलर पहले पनडुब्बी से अर्जेंटीना पहुंचा और फिर वहां से वह पराग्वे गया ! बाद में हिटलर ब्राजील के माटो ग्रोसो राज्य में रहने लगा !

यह दावा है कि ब्राजील में हिटलर एक खजाने की खोज में लगा था ! जिसका नक्शा उसे वेटिकन के उसके साथियों ने दिया था ! यह भी दावा किया गया है कि राजधानी कूयाबा से 30 मील दूर एक छोटे से शहर में हिटलर अडॉल्फ लिपजिग के नाम से रह रहा था ! अडॉल्फ को लिपजिग को स्थानीय लोग ‘ओल्ड जर्मन’ के नाम से जानते थे !

वैसे भी हिटलर और ईवा ब्राउन की मौत के कोई भी फोरेंसिक सबूत नहीं मिले हैं ! इसके अलावा अर्जेंटीना में इन दोनों के होने के बारे में कई प्रत्यक्षदर्शियों की कहानियां भी इस बात की गवाही देती हैं ! ‘ग्रे वुल्फ: एस्केप ऑफ एडॉल्फ हिटलर’ नामक किताब में अमेरिकी गुप्तचर एजेंसी पर यह भी आरोप लगाया गया है कि नाजी युद्ध प्रौद्योगिकी के वैज्ञानिकों और जर्मन की गुप्त युद्ध तकनीकी के बदले में अमेरिका ने अडॉल्फ हिटलर को पलायन करने की अनुमति दे दी थी और इस सूचना को भी दुनियां से गुप्त रखा !

यह भी दावा है कि रूस के पास जो हिटलर की खोपड़ी के टुकड़े हैं ! उसके जाँच से पता चला है कि वह वास्तव में एक औरत की खोपड़ी के हैं ! विलियम्स और सह-लेखक सिमोन डंस्टन ने हजारों गुप्त दस्तावेजों तथा फोरेंसिक परीक्षण रिपोर्ट के अध्ययन के बाद यह किताब ‘हिटलर इन ब्राजील-हिज लाइफ ऐंड हिज डेथ’ लिखी है ! जिस पर अभी तक अमेरिकी गुप्तचर एजेंसी मौन है !!

अपने बारे में कुण्डली परामर्श हेतु संपर्क करें !

योगेश कुमार मिश्र 

ज्योतिषरत्न,इतिहासकार,संवैधानिक शोधकर्ता

एंव अधिवक्ता ( हाईकोर्ट)

 -: सम्पर्क :-
-090 444 14408
-094 530 92553

comments

Check Also

क्या हिटलर ने उड़नतश्तरी भी बना ली थी ! : Yogesh Mishra

अपने जमाने का मशहूर जर्मन चांसलर अडॉल्फ हिटलर उड़न तश्तरी की तरह विमान बनाने में …