Ambedkar-Nehru-Gandhi

नेहरू गांधी हत्या के पीछे आर.एस.एस. का हाथ मानते थे !! : Yogesh Mishra

गांधी हत्या के बाद आर.एस.एस. के सर संघ संचालक गोलवलकर उर्फ गुरु जी पर धारा-302 के तहत हत्या के षडयंत्र में शामिल होने का मुकदमा दर्ज किया गया था और उन्हें 1 फरवरी 1948 को गिरफतार कर जेल में डाल दिया गया ! इसके बाद 4 फरवरी 1948 को संघ …

Read More »

दलितों ने ब्राह्मणों का शोषण कैसे किया ! अनकहा सत्य जानिए | Yogesh Mishra

आजकल दलितों के समर्थन में बहुत से एन.जी.ओ. मुस्लिम और ईसाई देशों से धन लाकर ब्राह्मणों के विरोध में काल्पनिक साहित्य का निर्माण कर रहे हैं ! ब्राह्मणों के विरोध में बहुत सी ऐसी ऐतिहासिक घटनाओं का वर्णन किया ला रहा है, जिसमें शोषण करने वाले ब्राह्मण और शोषित होने …

Read More »

गांधी मात्र राजनीति का विषय नहीं है ! : Yogesh Mishra

गांधी मात्र राजनीति का विषय नहीं है ! विकास के नाम पर देश की सत्यानाश हुई अर्थव्यवस्था को देखते हुये हमें विकास की हमारी अवधारणा पर पुनर्विचार करना होगा ! विकास किसका ? विकास किसके लिए ? जैसे प्रश्न हमें देश के कर्णधारों से पूछने होंगे ! हम सब विकास …

Read More »

गांधी पर चौथी गोली किसने चलाई थी !! Yogesh Mishra

सीनियर बीजेपी लीडर और राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने संसद में राष्ट्रपिता मोहनदास करमचंद गांधी की हत्या पर चर्चा कराने की पैरवी की है ! जिस के लिये गाँधी प्रेमी नेता तैयार नहीं हैं फिर भी सुब्रमण्यम स्वामी कहना न है कि सात दशक पुराने गांधी हत्याकांड पर फिर से …

Read More »

गाँधी न तो कभी राष्ट्रपिता थे और न ही महात्मा गांधी थे ! Yogesh Mishra

भारत में संविधान का शासन है ! अभिव्यक्ति की आजादी भारतीय संविधान के अनुच्छेद 19 के तहत भारत के प्रत्येक नागरिक का मौलिक अधिकार है ! जब तक यह संविधान है तब तक भारत के किसी भी नागरिक को अपनी विचारों की अभिव्यक्ति से नहीं रोका जा सकता है और …

Read More »

राजसत्ता के विश्वासघात से पैदा होते हैं “गोडसे” Yogesh Mishra

विश्व में जिस तरह “एडोल्फ हिटलर” को आज एक विलेन के रुप में देखा जाता है, उसी तरह भारत की राजनीतिक में राष्ट्रभक्त “नाथूराम गोडसे” को भी एक विलयन के रुप में देखा जाता है ! प्रश्न यह है कि गोडसे जैसे लोग पैदा ही क्यों होते हैं ? स्पष्ट …

Read More »

जानिये मनुस्मृति में मिलावट के लिये कौन जिम्मेदार है ? Yogesh Mishra

आर.पी. पाठक द्वारा लिखी गई पुस्तक “एजुकेशन इन दा एमर्जिंग इण्डिया” के पृष्ट संख्या 148 के अनुसार तथा मोटवानी के. की पुस्तक मनु धर्म शास्त्र के पृष्ट संख्या 232 के अनुसार चीन की महान दीवार से प्राप्त हुयी पांडुलिपि में ‘पवित्र मनुस्मृति’ का जिक्र है ! सही मनुस्मृति में 630 …

Read More »

”गोडसे” जैसों को आखिर क्यों हथियार उठाना पड़ता है | Yogesh Mishra

विश्व में जिस तरह “एडोल्फ हिटलर” को आज एक विलेन के रुप में देखा जाता है, उसी तरह भारत की राजनीतिक में राष्ट्रभक्त “नाथूराम गोडसे” को भी एक विलयन के रुप में देखा जाता है | प्रश्न यह है कि गोडसे जैसे लोग पैदा ही क्यों होते हैं ? स्पष्ट …

Read More »

गाँधीवध पर कांग्रेसियों द्वार ब्राह्मणों का सबसे बड़ा कत्लेआम ! Yogesh Mishra

मुस्लिम तुष्टीकरण की पराकाष्ठ पर पहुँचे गाँधी का 30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे चित्तपावन ब्राह्मण ने राष्ट्र हित में नई दिल्ली के बिरला भवन में गोली मारकर वध कर दिया ! फिर क्या था गाँधी के अहिंसक गांधीवादी अनुयाईयों ने 31 जनवरी को दिन भर दंगे की योजना बनायी …

Read More »

अंग्रेजी शासन व्यवस्था को भारत में लागू करवाने के लिए मनुस्मृति को बदनाम किया अंबेडकर ने ! Yogesh Mishra

डॉ भीमराव अंबेडकर ने अपनी जातिगत राजनीति को चमकाने के लिए ऐसा बताया कि मनुस्मृति ब्राह्मण  संरक्षित  तथा  ब्राह्मण पोषित है  जबकि यह सूचना गलत है मनु स्मृति का अध्ययन करने वाला कोई भी व्यक्ति स्पष्ट रुप से यह देख सकता है कि  मनु स्मृति में किसी भी अपराध के …

Read More »